Seva Bhoj Yojana Kya Hai Full Guide? सेवा भोज योजना क्या है

भारत देश में एक धर्म नहीं बल्कि विविध धर्मो का देश है। और यहां पर सभी धर्मो के धार्मिक संस्थाएं है जो अपने अपने त्योहार पर सभी लोगो के लिए भोजन, लंगर का आयोजन किया जाता है।

ऐसे में धार्मिक संस्थान पर पैसों का ज्यादा बोझ ना बढ़े इसी वजह से सरकार ने Seva Bhoj Yojana को लॉन्च किया है।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि Seva Bhoj Yojana क्या है? इसका उद्देश्य क्या है? और इसको आवेदन कैसे करें?

Seva Bhoj Yojana Kya Hai?

‘Seva Bhoj Yojna ’भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय द्वारा लॉन्च की गई एक केंद्रीय क्षेत्र योजना है। जिसमें जिन धार्मिक संस्थान में मुफ्त में भोजन, प्रसाद , लंगर (सामुदायिक रसोई) और भंडारा की सामग्री पे जो केंद्रीय वस्तु एवं सर्विस टैक्स (सीजीएसटी) और Integrated Goods and Service Tax (IGST) के जो पैसे है वो सरकार उन धार्मिक संस्थान को वापस कर देगी।

ताकि ऐसे धार्मिक संस्थानों के financial बोझ को कम किया जा सके जो सार्वजनिक रूप से भक्तों को किसी भी भेदभाव के बिना मुफ्त में भोजन, प्रसाद , लंगर (सामुदायिक रसोई) और भंडारा प्रदान करते हैं।

योजना का नामसेवा भोज योजना
कब की गई योजना की घोषणाएक जून, 2018
किसके द्वारा शुरू की गई योजनासेंट्रल गवर्नमेंट
किसको मिलेगा लाभचैरिटेबल रिलीजियस इंस्टीटूशन्स
योजना का बजट325 करोड़
किन चीजों पर किए जाएंगे जीएससी के पैसे रिफंडभोजन / प्रसाद / लंगर / भंडारा

Seva Bhoj Yojana का उद्देश्य क्या है?

गुड्स एंड सर्विस टैक्स के बाद जो धार्मिक संस्थान है जो भक्तो को मुफ्त में प्रसाद, लंगर, भोजन प्रदान करते है उनको भी GST के तहत टैक्स भरना होता है। ऐसे में उन संस्थान पर टैक्स का ज्यादा बोझ ना आय इसी वजह से सरकार की इस योजना के तहत जो खाद्य समग्री  पर लगने वाले टैक्स के पैसे उनको वापस दिए जाए।

Seva Bhoj Yojana का बजट कितना है?

इस योजना की शुरुआत 01 अगस्त 2018 से कि गई है। जिसमें शुरुआती दो साल के लिए इसमें Rs. 325 करोड़ दिए गए है। जो कोई छोटी रकम नहीं है।

Seva Bhoj Yojana के पैसे को कैसे रिफंड किया जाएगा?

भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय द्वारा बताया गया है कि जो चेरिटेबल ट्रस्ट और धार्मिक संस्थाएं है जब वे लंगर, प्रसाद और भंडारे के लिए उपयोग होने वाली सामग्री लेने जाएगी तब उनको टैक्स देना होगा।

और उसके बाद वहां से उनको जो रसीद दी जाएगी उसको वापस सरकार को देनी होगी। उसके बाद जितना टैक्स भरा होगा उतना धार्मिक संस्थान को वापस मिलेगा।

योजना का बजट (Budget)

Seva Bhoj Yojna से जुड़े हुए नोटिफिकेशन के अनुसार सेंट्रल गवर्नमेंट इस स्कीम के लिए 325 करोड़ रुपए आवंटित करेगी. और ये बजट फाइनेंसियल ईयर 2018-19 और 2019-20 के लिए बनाया गया है.

Seva Bhoj Yojana के तहत कौन इसको रजिस्टर कर सकता है?

इस योजना का लाभ लेने के लिए मिनिस्ट्री ऑफ कल्चर ने कुछ नियम बनाए है जैसे कि इस योजना को उन्हीं धार्मिक संस्थान को इस योजना का फायदा दिया जाएगा, जो संस्था पिछले पांच साल से रजिस्टर्ड हैं। सिर्फ यही नहीं जो धार्मिक संस्थान हर महीने कम से कम पांच हजार लोगों को भोजन, प्रसाद या लंगर खिलाते हैं, केवल वो ही इस योजना के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

Seva Bhoj Yojana के लिए आवेदन कैसे करे?

Seva Bhoj Yojana में आवेदन सिर्फ एक ही तरीके से होता है वो है ऑफलाइन। जी हां हाल के समय में सेवा भोज योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करना संभव नहीं है।

इस योजना में आवेदन करने के लिये धार्मिक संगठन, ट्रस्‍ट, तथा अन्‍य धार्मिक संस्‍थानों का दर्पण पोर्टल में रजिस्टर होना बहुत आवश्‍यक है।

कैसे किए जाएंगे Seva Bhoj Yojna के पैसे रिफंड

  • मिनिस्ट्री ऑफ कल्चर (Ministry of culture) के अनुसार जब चैरिटेबल रिलीजियस इंस्टीटूशन्स लंगर के खाने को बनाने में इस्तेमाल होने वाली सामग्रियों को खरीदेंगे, तो उन्हें उन चीजों पर लगने वाले जीएसटी(GST) को देना होगा.
  • सामग्रियों को खरीदने के बाद चैरिटेबल रिलीजियस इंस्टीटूशन्स को जो रसीद मिलेगी उनको वो रसीद सरकार को देनी होगा और रसीद के हिसाब से इन इंस्टीटूशन्स ने जितना जीएसटी, खाने की सामग्री को खरीदने के दौरान भरा होगा वो उनको वापस कर दिया जाएंगे.

पैसे रिफंड करने की प्रक्रिया  (Refund Process of Seva Bhoj Yojna)

  • चैरिटेबल रिलीजियस इंस्टीटूशन्स को उनके द्वारा भरे गए सीजीएसटी (CGST) और आईजीएसटी (IGST) टैक्स के पैसों को वापस लेने के लिए, सबसे पहले अपने आपको दर्पण पोर्टल पर रजिस्टर करवाना होगा.
  • जिसके बाद मंत्रालय उन सभी इंस्टीटूशन्स की जांच करेगा जिन्होंने अपने आपको रजिस्टर करवाया होगा.
  • चैरिटेबल रिलीजियस इंस्टीटूशन्स की जांच करने की जिम्मेदारी मंत्रालय एक समिति को देगा और उस समिति को उन सभी इंस्टीटूशन्स की जांच 4 सप्ताह के भीतर करनी होगी. जिन्होंने ने अपने आपको दर्पण पोर्टल पर रजिस्टर करवाया होगा.
  • अगर समिति से ‘दर्पण पोर्टल’ पर रजिस्टर करवाए गए चैरिटेबल रिलीजियस इंस्टीटूशन्स को अप्रूवल मिल जाता है, तो इन इंस्टीटूशन्स द्वारा भरे गए टैक्स के पैसों को वापस कर दिया जाएगा.

कौन चैरिटेबल रिलीजियस इंस्टीटूशन्स कर सकते हैं आवेदन

  • मिनिस्ट्री ऑफ कल्चर के अनुसार केवल उन्हीं चैरिटेबल रिलीजियस इंस्टीटूशन्स को इस स्कीम का फायदा दिया जाएगा, जो इंस्टीटूशन्स, पांच साल से रजिस्टर्ड हैं.
  • साथ ही जो रिलीजियस इंस्टीटूशन्स हर महीने कम से कम पांच हजार लोगों को लंगर खिलाते हैं, केवल वो ही इस स्कीम के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

DOWNLOAD-AS-PDF

DOWNLOAD PDF

आज आपने क्या सीखा

मुझे उम्मीद है की आपको मेरी यह लेख Seva Bhoj Yojana Kya Hai? Poori Jaankari Hindi Mein जरुर पसंद आई होगी. मेरी हमेशा से यही कोशिश रहती है की readers को Seva Bhoj Yojana Kya Hai? Poori Jaankari Hindi Mein के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे sites या internet में उस article के सन्दर्भ में खोजने की जरुरत ही नहीं है.

क्या आप जानते है की पेंशन योजना के अंतर्गत 60 की आयु के बाद आपको अनेक लाभ मिलने वाले है। अटल पेंशन योजना के तहत आपको किस प्रकार लाभ मिलेगा और आपको (Atal Bihari Pension Yojna) कैसे करना इसके बारे में आप नीचे डिटेल में पढ़ सकते है।

Pradhan Mantri Awas Yojana के बारे में आपने जरूर सुना होगा। यह एक भारत सरकार की योजना है। जिसका उद्देश्य है कि जिन लोगो का खुद का पक्का घर नहीं है उन लोगो को रहने के लिए अपना घर बनाकर दिए जाए।

इससे उनकी समय की बचत भी होगी और एक ही जगह में उन्हें सभी information भी मिल जायेंगे. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं.

यदि आपको यह लेख Seva Bhoj Yojana Kya Hai? Poori Jaankari Hindi Meini पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये.

अंतिम निष्कर्ष

तो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने जाना कि Seva Bhoj Yojana Kya Hai? उसके लिए कौन कौन आवेदन कर सकता है? इस योजना के क्या लाभ है? और आप कैसे Apply कर सकते है?

इस पोस्ट से जुड़े कोई भी सवाल है तो नीचे कॉमेंट बॉक्स में जरूर बताए।

Leave a Comment