अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र 2020

अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र 2020 | Maharashtra Inter-Caste Marriage | महाराष्ट्र अंतरजातीय विवाह योजना आवेदन | Maharashtra Inter-Caste Marriage Online  | महाराष्ट्र अंतरजातीय विवाह योजना फॉर्म | Maharashtra Inter-Caste Marriage Scheme In Hindi

प्यारे दोस्तों! आज हम आपको जिस विषय पर जानकारी देने वाले हैं वह विषय ना सिर्फ आपके सामाजिक जीवन से जुड़ा है बल्कि आपकी निजी जिंदगी से भी जुड़ा हुआ है। आज हम आपको अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र 2020 के बारे में बताने जा रहे हैं।

हमारे देश में जाति विवाद शुरूआत से ही एक बड़ा मसला रहा है। आये दिन हम लोग अखबारों में जाति विवाद की वजह से हुए सामाजिक आक्रोश और दंगे फसादों की खबरें सुनते आ रहे हैं।ऐसे में अंतरजातीय विवाह को समाज पूर्ण रूप से स्वीकृति नहीं दे पा रहा है।जबकि अंतरजातिय विवाह जातीय भेदभाव को कम करने में बहुत कारगर सिद्ध होता है।

सरकार ने भी अंतरजातीय विवाह को मान्यता दी है और इसे बढावा देने के लिए कई योजनाएं भी शुरू की हैं। आज हम आपको महाराष्ट्र सरकार द्वारा संचालित की गई अंतरजातीय विवाह योजना की पूरी जानकारी देंगे तो शुरु से अंत तक लेख(आर्टिकल) को पूरा पढ़ें।

अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र 2020 क्या है? | What is Maharashtra Inter-Caste Marriage scheme 2020

हमारे यहां कानून ने भले ही दो बालिगों को शादी करने की छूट दी है लेकिन सामाजिक स्तर पर अंतरजातीय  विवाहों को मान्यता नहीं दी है।सरकार समय समय पर जातीय मतभेदों को समाप्त करने हेतु कई प्रकार के कार्यक्रम चलाती है।

कुछ वर्षों पहले महाराष्ट्र सरकार द्वारा अंतरजातीय विवाह को प्रोत्साहन देने के लिए और जातीय भेदभाव को कम करने के लिए यह योजना बनाई थी, जिसके तहत विवाहित जोड़ों को 50,000 रूपये प्रोत्साहन राशि के रूप में दिए जाते थे। किन्तु इस साल इस योजना में यह प्रोत्साहन राशि 2.50 लाख रूपये और बढ़ा दी गई है।

यानी राज्य का जो कोई भी युगल अंतरजातीय विवाह करेगा, जिसमें पति या पत्नी में से कोई एक अनुसूचित जाति(दलित वर्ग)का हो, उसे 3 लाख रूपए की राशि विवाहित नवयुगल को दी जाएगी।

Inter-Caste Marriage Scheme 2020 Highlights

योजना का नामअंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र
इनके द्वारा शुरू किया गया हैमहाराष्ट्र सरकार
लाभार्थीराज्य के इंटर-कास्ट मैरिज करने वाले लाभार्थी
उद्देश्यप्रोत्साहन राशि प्रदान
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://sjsa.maharashtra.gov.in/en/schemes-page?scheme_nature=All&Submit=Submit&page=10

इस योजना के क्या उद्देश्य हैं? | What are the purposes of Maharashtra Inter-Caste Marriage scheme 2020?

दोस्तों, आज भी हमारे समाज में कई प्रकार की रूढ़िवादी परंपराएं फैली हुई हैं। जन्म के समय सब इंसान बराबर होते हैं परन्तु समाज द्वारा जन्म से ही कुछ जातियों को नीच और अछूत बता दिया जाता है। जिससे समाज में विषमता फैल जाती है और अनुसचित जातियों (दलित वर्गों) के साथ सामान्य वर्ग का वैवाहिक संबंध करना अशोभनीय मना जाता है।

इसलिए सरकार ने यह योजना शुरू की जिसका उद्देश्य है अंतरजातीय विवाह से संबंधित भेदभाव को कम करना। जिसमें योग्य नवदम्प्तियों को प्रोत्साहन राशि देकर अंतरजातीय विवाह को बढ़ावा दिया जाता है।

योजना की विशेषताएं लाभ | Features and benefits of the Maharashtra Inter-Caste Marriage scheme 2020

यह योजना जातिगत असमानता को कम करने के लिए शुरू की गई है। कई युगल ऐसे भी होते हैं जिन्हें अंतर्जातीय विवाह करने पर समाज से बहिष्कृत कर दिया जाता है। किन्तु सरकार द्वारा उन्हें अपना नया जीवन शुरू करने हेतु प्रोत्साहन राशि दी जाती है। जिससे वे समाज की रूढ़िवादी मान्यताओं को छोड़कर अपनी नयी जिंदगी खुशी खुशी शुरू कर सकें।

इसके अन्तर्गत राज्य सरकार द्वारा 50,000 रूपये और डॉ आंबेडकर फाउंडेशन के द्वारा 2.50 लाख रूपये मिलाकर कुल 3 लाख रूपये की राशि लाभार्थी को दी जायेंगी।

यह राशि विशेष रूप से उन युवक या युवती को दी जाएगी जिन्होंने अनूसूचित जाति या जनजाति के युवक व युवती से विवाह किया है।

यह धनराशि सीधे उनके बैंक अकाउंट में ही ट्रांसफर की जाएगी। इसके लिए उनका आधार कार्ड से लिंक किया हुआ अकाउंट होना चाहिए।

अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र 2020 के लिए योग्यता | Eligibility Criteria for the Maharashtra Inter-Caste Marriage scheme 2020

दोस्तों, जैसा कि हम जानते है हर सरकारी योजना में आवेदन करने हेतु कुछ योग्यता मापदंड निर्धारित किए जाते हैं तो आइए जानते हैं कि इसका लाभ कौन – कौन से युवक/युवती ले सकते हैं।

चूंकि यह योजना महाराष्ट्र सरकार द्वारा शुरू की गई है अतः इसका आवेदक महाराष्ट्र का स्थाई निवासी होना चाहिए।

विवाह करने वाले युगल में युवक की उम्र 21वर्ष तथा युवती की उम्र 18 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए।

इसमें प्रोत्साहन राशि उन्हीं विवाहित युगलों को दी जाएगी, जिनमें युवक अथवा युवती में से कोई एक अनुसूचित जाति से संबंध रखता हो।

इस योजना के अनुसार विवाह की इच्छा रखने वाले युगल को कोर्ट मैरिज करना ज़रूरी है।

यदि कोई अनुसूचित जाति या जनजाति का युवक या युवती किसी पिछड़े वर्ग या सामान्य वर्ग के युवक या युवती से विवाह करता है, तो केवल वे ही इसका लाभ उठा सकते हैं।

अब आप जान गए होंगे कि इस योजना में आवेदन हेतु क्या नियम हैं। अब आप पढ़िए की कौन कौन से दस्तावेज आपको चाहिए होंगे।

अंतरजातीय विवाह योजना 2020 के लिए जरूरी दस्तावेज़ | Required documents for the application of the scheme

  • आवेदन करने के लिए इच्छुक युवक व युवती दोनों का आधार कार्ड होना जरूरी है।
  • चूंकि सरकार द्वारा विवाह की योग्यता हेतु एक आयु निर्धारित की गई है इसलिए युवक और युवती को अपना आयु प्रमाण पत्र भी जमा करवाना होगा।
  • इस योजना में आवेदन हेतु दोनों का जाति प्रमाण पत्र भी होना जरूरी है ताकि पता चल सके कि वे कौन कौन सी जातियों से संबंध रखते हैं।
  • विवाह होने के बाद नवयुगल को साथ में एक पासपोर्ट साइज फोटो खींचवाकर फॉर्म के साथ लगानी होगी।
  • विवाहित जोड़े को कोर्ट मैरिज का प्रमाण पत्र भी जमा करवाना होगा।

तो अब हम फाइनल स्टेप की तरफ बढ़ते हैं और वो है इस योजना में आवेदन फॉर्म भरने और जमा करवाने का तरीका।

अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र 2020 में ऑनलाइन आवेदन कैसे करे ? | How to apply for Maharashtra Inter-Caste Marriage scheme 2020

ऑनलाइन आवेदन से जुड़ी पूरी प्रक्रिया हम आपको बताने जा रहे हैं तो ध्यान से पढ़ें।

अगर आप भी इस योजना में आवेदन की इच्छा रखते हैं तो सबसे पहले आपको महाराष्ट्र सरकार की सामाजिक न्याय और विशेष सहायता विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। वेबसाइट पर डायरेक्ट जाने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें। Maharashtra Inter-Caste Marriage scheme 2020

इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।इस पर आपको अंतरजातीय विवाह योजना का ऑप्शन दिखाई देगा। इस ऑप्शन पर क्लिक करें।

अब आपके सामने अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र 2020 का रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जायेगा ।

इसके बाद फॉर्म में पूछी गई सारी जानकारी को सावधानी से भरें।

सारी जानकारी ठीक से भरने के पश्चात् अब अपने दस्तावेजों को अपलोड करके संलग्न करें और फिर सबमिट बटन पर क्लिक करके फॉर्म को सबमिट कर दीजिए।अब आपका ऑनलाइन आवेदन का रजिस्ट्रेशन हो जाएगा।

आपको यह भी पढ़ना चाहिए 

आज आपने क्या सीखा?

दोस्तों! उम्मीद है की आपको इस पोस्ट की सारी जानकारी पसंद आयी होगी। ये जानकारी खासकर के अविवाहित युवक और युवतियों के लिए बहुत काम की है क्यूंकि देश और राज्य में जातिगत भेदभाव को मिटाने के लिए वे इस योजना के सहयोग से एक नई पहल कर सकते हैं। आप सभी इस अपने दोस्तों व रिश्तेदारों में ज़रूर शेयर करें और कमेंट करके बताएं कि आपको ये जानकारी कैसी लगी।

धन्यवाद!

Leave a Comment